August 28, 2020

संज्ञा की परिभाषा

 

संज्ञा की परिभाषा (sangya definition in hindi)

संज्ञा किसे कहते हैं – Sangya in Hindi :-

किसी भी व्यक्ति, वस्तु, जाति, भाव या स्थान के नाम को ही संज्ञा कहते हैं। 

 

जैसे:  राम (व्यक्ति), किताब(वस्तु), मानव (जाति), करनाल (स्थान), मिठास(भाव)

संज्ञा के भेद (sangya ke bhed in hindi)

संज्ञा के पांच भेद होते हैं:

  1. व्यक्तिवाचक संज्ञा
  2. भाववाचक संज्ञा
  3. जातिवाचक संज्ञा
  4. द्रव्यवाचक संज्ञा
  5. समूहवाचक या समुदायवाचक संज्ञा




1. व्यक्तिवाचक संज्ञा

जिस संज्ञा से किसी विशेष व्यक्ति, वस्तु, स्थान, का बोध हो | अर्थात जो शब्द केवल एक व्यक्ति, वस्तु या स्थान का बोध कराते हैं उन शब्दों को व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते हैं।

 जैसे- किताब(वस्तु), मानव (जाति), करनाल (स्थान) आदि।

धोनी क्रिकेट खेलता था।

इसमें धोनी किसी विशेष व्यक्ति का बोध कराते हैं।

2. जातिवाचक संज्ञा

 जिस संज्ञा से किसी जाति या वर्ग विशेष का बोध हो | अर्थात जो शब्द किसी व्यक्ति, वस्तु या स्थान की संपूर्ण जाति का बोध कराते हैं, उन शब्दों को जातिवाचक संज्ञा कहते हैं। 

जैसे-  टीवी , स्कूल, जानवर  आदि।

मैदान में बच्चे खेल रहे हैं।

इस वाक्य में बच्चे  जातिवाचक संज्ञा शब्द कहलायेंगे क्योंकि ये किसी विशेष बच्चे का बोध न कराकर सभी बच्चो का बोध करा रहे हैं।

3. भाववाचक संज्ञा: जिस संज्ञा से पदार्थ या व्यक्ति के गुण-दोष, व्यापार, दशा आदि के भाव का बोध हो | अर्थात जो शब्द किसी चीज़ या पदार्थ की अवस्था, दशा या भाव का बोध कराते हैं, उन शब्दों को भाववाचक संज्ञा कहते हैं। 

जैसे-  बुढ़ापा, मिठास, कड़वाहट, प्रसन्नता, घबराहट, लम्बाई आदि।

आप आए बहुत प्रशन्नता हुई

इस वाक्य में प्रशन्नता का भाव व्यक्त हो रहा है इसलिए ये भाववाचक संज्ञा शब्द हैं।

4. द्रव्यवाचक संज्ञा: 

जिस संज्ञा शब्द से द्रव्य या धातु का बोध हो | अर्थात जो शब्द किसी धातु या द्रव्य का बोध करते हैं, द्रव्यवाचक संज्ञा कहलाते हैं।  

जैसे- हल्दी, लोहा,कोयला, घी आदि।

हल्दी सेहत के लिए गुणकारी होती है

इस वाक्य में हल्दी से किसी द्रव्य का बोध हो रहा है इसलिए ये द्रव्यवाचक संज्ञा कहलाते हैं।

5. समुदायवाचक संज्ञा : 

जिस संज्ञा शब्द से समुदाय का बोध हो | अर्थात जिन शब्दों से किसी भी व्यक्ति या वस्तु के समूह का बोध होता है, उन शब्दों को समूहवाचक या समुदायवाचक संज्ञा कहते हैं। 

जैसे- भीड़, कक्षा, सेना,  सभा, झुंड आदि।

स्टेशन पर बहुत भीड़ थी

इस वाक्य में भीड़ से किसी समूह का बोध हो रहा है इसलिए ये समुदाय वाचक संज्ञा कहलाते हैं।

0 comments: