August 28, 2020

वर्ण और वर्णमाला

वर्ण और वर्णमाला

वर्ण और वर्णमाला की परिभाषा-

वर्ण किसे कहते हैं ? varn kise kahte hain

वर्ण की परिभाषा varn ki paribhasha -  

भाषा की सबसे छोटी ध्वनि को वर्ण कहते हैं लिखित ध्वनि संकेतों को देवनागरी लिपि के अनुसार वर्ण कहा जाता हैं वर्ण उस मूल ध्वनि को कहते हैं, जिसके खंड या टुकड़े नहीं किये जा सकते । जैसे- अ,आ,इ, , , ख्, ग इत्यादि।उदाहरण के लिए : राम  ने आम खाया इस वाक्य के छोटे खंड होंगे राम + ने+ आम + खाया

लेकिन इनसे भी छोटे खंड राम = र+आ+म , ने =  न+ए, आम = आ+म  खाए = ख+आ+ए मूल ध्वनियाँ हैं जिनके आगे खंड नहीं किये जा सकते । इन्हीं अखंड मूल ध्वनियों को वर्ण कहते हैं।

 प्रत्येक भाषा में अनेक वर्ण होते हैं हिन्दी भाषा में 52 वर्ण हैं।

 वर्णमाला किसे कहते हैं ?

वर्णमाला varnmala ki paribhasha - 

किसी भाषा के समस्त वर्णों के व्यवस्थित समूह को वर्णमाला कहते हैं।

प्रत्येक भाषा की अपनी अलग वर्णमाला होती है। 
हिंदी- अ, , , , ग..... 
अंग्रेजी- A, B, C, D,....

लिंग की परिभाषा

लिंग की परिभाषा

 

लिंग की परिभाषा Ling ki Paribhasha

लिंग किसे कहते हैं? Ling kise kahte hain ?

लिंग संस्कृत का एक शब्द है जिसका अर्थ निशान होता है जिस संज्ञा शब्द से व्यक्ति की जाति का पता चलता है उसे लिंग कहते हैं। अर्थात संज्ञा का वह रूप जिससे हमें किसी भी व्यक्ति, जीव, या वस्तु आदि की जाति पता चले, वे शब्द लिंग कहलाते हैं। इन शब्दों से यह पता चलता है कि वह पुरुष जाति का है या स्त्री जाती का।

लिंग के उदाहरण

पुरुष जाति में: मोहन, सोहन, मानवपिता, भाई, लड़का, बैल, बकरा, मोर, हाथी, शेर, घोडा, कुत्ता आदि।

स्त्री जाति में:  मीना, महिला, माता, बहन, लड़की, गाय, बकरी, मोरनी, मोहिनी, हथनी, शेरनी, घोड़ी, खिड़की , कुतिया, भैंस, गाय आदि।

लिंग के भेद ling ke prakar

लिंग के मुख्यतः तीन भेद होते हैं :

  1. पुल्लिंग (पुरुष जाति)
  2. स्त्रीलिंग (स्त्री जाति)
  3. नपुंसकलिंग (जड़)

संज्ञा की परिभाषा

 

संज्ञा की परिभाषा (sangya definition in hindi)

संज्ञा किसे कहते हैं – Sangya in Hindi :-

किसी भी व्यक्ति, वस्तु, जाति, भाव या स्थान के नाम को ही संज्ञा कहते हैं। 

 

जैसे:  राम (व्यक्ति), किताब(वस्तु), मानव (जाति), करनाल (स्थान), मिठास(भाव)

संज्ञा के भेद (sangya ke bhed in hindi)

संज्ञा के पांच भेद होते हैं:

  1. व्यक्तिवाचक संज्ञा
  2. भाववाचक संज्ञा
  3. जातिवाचक संज्ञा
  4. द्रव्यवाचक संज्ञा
  5. समूहवाचक या समुदायवाचक संज्ञा